Party Constitution

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल का संविधान

अनोखे संविधान की विशेषतायें

आभासी (वर्चुवल) लोकतंत्र को वास्तविक लोकतंत्र में रुपांतरित करना पार्टी का मुख्य काम-

पार्टी मुख्य रूप से आभासी लोकतंत्र को वास्तविक लोकतंत्र में रुपांतरित करने के लिए काम कर रही है और देश ही नहीं विश्व स्तर पर लोकतांत्रिक इकाई द्वारा बने कानूनों को लागू करने के लिए काम कर रही है। साथ में पार्टी अप्रासंगिक हो चुके राजनीति शास्त्र और अर्थशास्त्र की मूलभूत परिभाषाओं में संशोधन करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय संधि करने के लिए काम कर रही है।

वर्ग संघर्ष की बजाय वर्ग प्रबंधन-

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल के संविधान को मानव जाति के स्वभाव को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इसीलिए पार्टी के संविधान को ऐसे लोग बेहतर समझ सकते हैं जिनको मानव शरीर और मानव शरीर की कोशिकाओं के अंतर्संबंधों और क्रियाविधि यानी फिजियोलॉजी की अच्छी जानकारी हो। इसीलिए पार्टी का संविधान अन्य पार्टियों की तुलना में अधिक तकनीकी है, जिसको कुछ लोग कठिन भी कहते है।

समाज प्रबंधन और समाज सेवा में रोजगार-

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल का यह मानना है कि पार्टी में काम करने वालों के काम का भुगतान होना चाहिए इसलिए पार्टी ने यह अनोखा इंतजाम किया है कि पार्टी के सत्ता में आने पर पार्टी में काम करने वालों का बकाया वेतन और पार्टी को अनुदान देने वाले लोगों को ब्याज सहित भुगतान शासकीय खजाने से करने के लिए कानून बनाए गए।

आलोचकों को प्रतिनिधित्व-

पार्टी ने आलोचकों को भी मान्यता दी है। इसलिए उन लोगों को भी सदस्य मानती है जो पार्टी से औपचारिक रूप से नहीं जुड़े हैं। पार्टी उन्हें ‘जीरो’ सदस्यता देती है। पार्टी के सदस्य  पार्टी से जोड़ने की आकांक्षा रखता है। ऐसे सदस्यों को पार्टी का ‘जीरो सदस्य’ कहा गया है। ‘जीरो सदस्यों’ का प्रतिनिधि पार्टी का सर्वोच्च अधिकारी है, जिसको पार्टी का नीति-निर्देशक कहा जाता है। आलोचकों को प्रतिनिधित्व केवल इसी पार्टी ने दिया है।

भारत सहित दुनिया के सभी देशों की चिंता-

देश की चिंता करने के लिए तो पार्टी में अखिल भारत भारतीय कमेटी है ही। लेकिन पार्टी का मानना है कि पूरी दुनिया में सभी देशो में समस्यायें एक सी हैं। इसीलिए पार्टी के संविधान में उनकी समस्याओं के समाधान के लिए पार्टी में अलग-अलग कमेटियों का प्रावधान है। इसीलिए इस पार्टी का नाम इंटरनेशनल है।

परिवार से लेकर वैश्विक स्तर की समस्याओं के समाधान के लिये हर स्तर पर पार्टी की इकाइयों का प्रावधान-

पार्टी में कुल 19 स्तर है, जो किसी भी अन्य पार्टी में नहीं है। पार्टी जन समस्याओं के समाधान के लिए काम करेगी। उन समस्याओं के समाधान के लिए पार्टी में अलग-अलग इकाइयों का प्रावधान है। उन समस्याओं का वर्गीकरण निम्नलिखित ढंग से किया गया है-

  1. प्रादेशिक समस्याएं
  2. अखिल भारतीय समस्याएं
  3. वतनी समस्याएं
  4. अर्ध वैश्विक और वैश्विक समस्याएं
  5. आर्थिक और सांस्कृतिक समस्याएं।

विभिन्न राजनीतिक विचारधाओं के प्रतिनिधियों को आरक्षण- 

  • अनुसूचित जातियों और जनजातियों को आरक्षण
  • पिछड़े वर्गों को आरक्षण
  • विकास में दिलचस्पी रखने वालों को आरक्षण
  • सुव्यवस्था के लिए अच्छे कानून बनाने में दिलचस्पी रखने वालों को आरक्षण
  • अतीत की सभ्यता और संस्कृति में दिलचस्पी रखने वालों को आरक्षण
  • भविष्य की सभ्यता और संस्कृति में निर्माण में दिलचस्पी रखने वालों को आरक्षण
  • सज्जनों को आरक्षण

पार्टी में निम्नलिखित विभिन्न स्तर के चेतना के लोगों को जगह दी गई है-

  • गांव का विकास करने वालों को, परिवारों का विकास करने वालों को तथा एक एक नागरिक का विकास करने वालों को
  • क्षेत्रीय विकास करने वालों को
  • अखिल भारतीय विकास करने वालों को
  • अपने देश के साथ पड़ोसी देशों के विकास करने वालों को
  • धरती के अपनी तरफ के आधे हिस्से (अर्द्ध विश्व)का विकास करने वालों को
  • पूरी धरती के हर देश(वैश्विक) का विकास करने वालों को
  • पूरी धरती के इंसानों के साथ साथ जीव जंतुओं का विकास करने वालों को

पूंजीवादियों व समाजवादियों, दोनों को कोटा-

पार्टी का संविधान हर स्तर पर निम्नलिखित तरह के लोगों को स्थान देता है-

  1. जनता में लोकप्रियता रखने वाले को,
  2. उद्योग-व्यापार की क्षमता रखने वाले को जो पार्टी के लिये सर्वाधिक आर्थिक येगदान कर सके।
  3. अध्ययनशील लोगों को,

इस तरह का कोटा अब तक किसी भी पार्टी में नहीं दिया जाता था

गठबंधन संबंधी नियमावली-

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल अन्य पार्टियों से भी गठबंधन बनायेगी लेकिन ऐसा गठबंधन केवल लिखित संविधान पर आधारित होगा। किसी भी तरह का अवसरवादी गठबंधन नहीं बनाया जाएगा। जिस आधार पर पार्टी का अन्य पार्टियों से गठबन्धन होगा, वह सब पार्टी संविधान में वर्णित है।

पढ़िये मूल संविधान अंग्रेजी में